• Tue. Sep 27th, 2022

The Uk Pedia

We Belive in Trust 🙏

पुत्रियों ने अपनी काव्य रचना से दिया साहित्यिक तर्पण: डॉ. नौटियाल, ‘आकाश पिता’ व ‘बीज का संचरण’ काव्य संग्रहों का भव्य विमोचन

Bytheukpedia

Sep 10, 2022
आकाश पिता' व 'बीज का संचरण' काव्य संग्रहों का भव्य विमोचन
Spread the love

‘आकाश पिता’ व ‘बीज का संचरण’ काव्य संग्रहों का विमोचन

मनोज उनियाल
श्रीनगर। हिंदी साहित्य भारती उत्तराखंड एवं बिगुल संस्था के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित भव्य समारोह में कवयित्री साईनीकृष्ण उनियाल के काव्य संग्रह आकाश पिता वह कवयित्री कमला उनियाल के काव्य संग्रह बीज का संचरण का विमोचन हुआ। साथ ही कवयित्री साईनीकृष्ण उनियाल के वीडियो गीत ‘सीमा पर है खड़ा हिमालय’ के वीडियो गीत का भी विमोचन किया गया। अदिति वेडिंग प्वाइंट में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि वैश्विक हिंदी शोध संस्थान के महानिदेशक डॉ. जयंती प्रसाद नौटियाल ने इस अवसर पर कहा कि पितृपक्ष का आरंभ हो गया है। इससे बड़ा तर्पण क्या होगा कि कोई पुत्री अपने माता पिता के लिए अपनी रचनाओं के माध्यम से साहित्यिक तर्पण कर रही हैं। आज जो हम लोग तर्पण करते हैं, उसे कल भूल जाते हैं। लेकिन जो दोनों नवोदित कवत्रियों ने लिखा है वह सदियों तक काम आएगा। साहित्य का उद्देश्य होता है कि वह जन जागरण करें और आने वाली पीढ़ी को कुछ दे जाएं। निश्चित तौर पर यह रचनाएं समाज को कुछ विशिष्ट दे रही हैं। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि विधायक विनोद कंडारी ने कहा कि हमें अपनी बोली भाषा व पहनावे का उत्थान करना चाहिए। दोनों नवोदित कवयित्रियों के लेखन और इनकी रचनाधर्मिता के पीछे उनके पतियों का हाथ है, जो कम ही देखने को मिलता है। उन्होंने दोनों नवोदित कवयित्रियों की रचनाओं को सराहनीय बताया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए पूर्व हिंदी विभागाध्यक्ष प्रो. उमा मैठानी ने कहा कि दोनों नवोदित कवयित्रियां धैर्य व समर्पण भाव के साथ लेखन का कार्य कर रही हैं। दोनों मधुर कंठ के साथ ही चौहुँमुखी प्रतिभा की धनी है। वरिष्ठ पत्रकार रीजनल रिपोर्टर की संपादक गंगा असनोड़ा थपलियाल ने कहां कि दोनों काव्य रचनाएं संवेदना से निकली हुई उपज है और नारी हृदय की संवेदनाओ को व्यक्त करती हैं।

हिंदी साहित्य भारती उत्तराखंड की प्रदेश अध्यक्ष कविता भट्ट शैलपुत्री व वरिष्ठ कवि नीरज नैथानी ने काव्य संग्रह की समीक्षा प्रस्तुत की। नवोदित कवयित्री साईनी उनियाल ने अपनी काव्य रचना आकाश पिता को अपने पिता स्व. श्री अंबिका प्रसाद नौटियाल व कमला उनियाल ने अपनी काव्य रचना बीज का संचरण को अपनी माता स्व. श्रीमती सुशीला देवी को समर्पित किया।

इस अवसर पर साईनी उनियाल की माता सुनीता नौटियाल व कमला उनियाल के पिता सुरतीराम पैन्यूली को विधायक द्वारा सम्मानित भी किया गया। संचालन प्रवक्ता महेंद्र बंगवाल ने किया। प्रेस क्लब के अध्यक्ष डॉ. श्रीकृष्ण उनियाल ने अतिथियों का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर नवीन उनियाल, कवयित्री अंशी कमल, पूर्व पालिकाध्यक्ष कृष्णानंद मैठानी, डालियों के दगड़िया के सचिव डॉ. मोहन पंवार, मां फाउंडेशन के सचिव इं. सत्यजीत खंडूड़ी, वासुदेव कंडारी, जितेंद्र धिरवाण, जयकृष्ण पैन्यूली, उपासना भट्ट, दिनेश उनियाल आदि मौजूद थे।