• Thu. Sep 29th, 2022

The Uk Pedia

We Belive in Trust 🙏

राज्य सभा सांसद नरेश बसंल पहुॅचे श्रीनगर, प्रबुद्ध जन सम्मेलन में किया प्रतिभाग

Bytheukpedia

Sep 19, 2022
राज्य सभा सांसद नरेश बसंल पहुॅचे श्रीनगर, प्रबुद्ध जन सम्मेलन में किया प्रतिभाग
Spread the love

श्रीनगर: भारतीय जनता पार्टी की ओर से श्रीनगर में प्रबुद्ध एवं बुद्धिजीवी सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन में बतौर मुख्य वक्ता के रूप में राज्यसभा सांसद नरेश बंसल ने हिस्सा लिया। उन्होंने कहा कि किसी भी राष्ट्र और समाज के वैभव और उन्नति के लिए प्रबुद्ध वर्ग का योगदान, निर्देशन और समर्पण महत्वपूर्ण होता है।

श्रीनगर में देवलोक होटल में तीनों विधानसभाओं के प्रबुद्ध जनों के सम्मेलन में बतौर मुख्य वक्ता राज्यसभा सांसद नरेश बंसल ने कहा कि समाज की उन्नति में प्रबुद्धजनों का महत्वपूर्ण योगदान होता हैं। समाज में प्रबुद्ध जन आगे खड़े होकर नई दिशा देते हैं तो पूरा समाज खड़ा होकर उनके पद चिह्नों पर चलकर अपनी उन्नति करता है।

इसे भी पढ़े – 100 रूपये में आल्टो कार ले जायें अपने घर, चमोली जिले में यहां मिल रहा बंपर ऑफर,ऐसा मौका और कहां

कहा कि प्रधानमंत्री के जन्मदिन को पूरे देश में सेवा पखवाडें के रूप में मनाया जा रहा है। कहा कि 17 सिंतबर से 2 अक्टूबर गांधी जंयती तक सेवा पखवाडे के तहत भाजपा कई कार्यक्रम आयोजित करेंगा। कहा कि भाजपा का कार्यकर्ता के एक दिन ही नहीं पूरे 365 दिन सेवा में रहता है, जिसका जीता जाता उदाहरण कोरोना काल के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं के द्वारा करोड़ों लोगों की सेवा करने से देखा जा सकता है।

 

राज्यसभा सांसद नरेश बंसल ने कांग्रेस पर तंज कसे हुए  कहा कि जिन्होंने भारत को तोड़ने का काम किया वही आज भारत जोड़ो यात्रा पर निकाल रहें है। यह बड़ा दुर्भाग्यपूर्ण विषय है। कहा कि भारत जोड़ने का काम तो नरेंद्र मोदी ने किया है। जिन्होंने तीन तलाक, धारा 370, हर घर तिरंगा यात्रा, बेरोजगारों के लिए स्वरोजगार, महिलाओं के लिए स्वरोजगार की व्यवस्था करना जैसी तमाम योजनाओंउ को धरातल में उतार कर दिखाया है। कहा कि मोदी का 2030 तक देश को विकसित राष्ट्र बनाने का लक्ष्य है। कहा कि मोदी जी हर कार्य की मॉनिटरिंग स्वयं ही कर रहें है। कार्यक्रम की अध्यक्षता गंगा आरती समिति के अध्यक्ष प्रेम बल्लभ नैथानी ने की। इस अवसर पर इस मौके पर जिला अध्यक्ष संपत सिंह रावत सरल, अतर सिंह असवाल, डा. सुधीर जोशी, गणेश भट्ट, डा.सीएमएस रावत, यशपाल बेनाम, दिनेश असवाल, वासुदेव कंडारी, लखपत सिंह भंडारी, जितेंद्र धीरवाण, हरि सिंह बिष्ट, पंकज सती, मानव सिंह बिष्ट, विनय घिल्डियाल, अनुग्रह मिश्र, प्रमिला भंडारी, अनसूया पटवाल, नगमा तौफीक आदि मौजूद थें।