• Tue. Sep 27th, 2022

The Uk Pedia

We Belive in Trust 🙏

नाइजीरियाई और नागालैंड निवासी ने टिहरी घनसाली के एक व्यक्ति से की 27 लाख की धोखाधड़ी, पुलिस ने नोयडा से किया गिरफ्तार।

Bytheukpedia

Sep 22, 2022
नाइजीरियाई और नागालैंड निवासी ने टिहरी घनसाली के एक व्यक्ति से की 27 लाख की धोखाधड़ी
Spread the love

नाइजीरियाई और नागालैंड निवासी ने घनसाली के एक व्यक्ति पर लगा दिया 27 लाख का चूना।
ग्रामीण क्षेत्रों में विकास के लिए 11 करोड़ रूपये देने का दिया था लालच
धोखाधड़ी के बाद व्यक्ति ने पुलिस में दर्ज कराई थी रिपोर्ट
जॉच के बाद पुलिस ने नोएडा से किया दोनों को गिरफ्तार
वारदात में एक पुरूष व एक महिला शामिल

टिहरी। घनसाली निवासी लक्ष्मी प्रसाद सेमवाल से 27 लाख रूपये की धोखाधड़ी करने के आरोपी नाइजीरियाई नागरिक और एक नागालैंड निवासी महिला को पुलिस ने नोएडा से गिरफ्तार किया है।

एसएसपी टिहरी नवनीत सिंह भुल्लर ने बताया कि घनसाली निवासी लक्ष्मी प्रसाद सेमवाल एक एनजीओ का संचालन करते हैं। पिछले साल इन्हें बैंक अधिकारी बनकर नाइजीरियाई नागरिक इरीभोग जेरोम विक्टर ने फोन किया और ग्रामीण क्षेत्र में विकास के लिये 11 करोड़ रूपये देने का प्रलोभन दिया। सेमवाल उसकी बातों में आ गये और उन्होंने अलग- अलग खातों में 27 लाख 28500 रूपये डाले। लेकिन सेमवाल के खातों में कोई रूपया नहीं आया। उसके बाद सेमवाल ने घनसाली थाना में अज्ञात आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का मु0अ0सं0 51/2021 धारा 419,420, 467, 468, 471, एवं 120 बी आईपीसी बनाम अज्ञात पंजीकृत करवाया।

पुलिस ने इस मामले में सीसीटीवी फुटेज और कॉल डिटेल के आधार पर नोएडा से नाइजिरियाई नागरिक इरीभोग जेरोम विक्टर और नागालैंड निवासी महिला ल्यांग पिखुम्ला चांग को गिरफ्तार किया है। दोनों ने अलग – अलग एटीएम कार्डो से उक्त धनराशि को निकाला था।

एसएसपी ने बताया कि विक्टर और ल्यांग पिखुम्ला दोनों चार साल से दिल्ली में लिव इन रिलेशन में रहते हैं और इनका एक दो साल का बेटा भी है। महिला अभी प्रगीनेंट भी है। नाइजिरिया निवासी ठग दिल्ली में टूरिस्ट वीजा पर आया था और फिलहाल उसका वीजा खत्म हो गया है और वह दिल्ली में फर्जी तरीके से रह रहा था। नाईजीरिया व साथी महिला अभियुक्त को ग्रेटर नोएडा उ0प्र0 से गिरफ्तार किया गया । दोनों को न्यायालय में पेश किया जा रहा है।

इनसे 35 एटीएम, 12 मोबाईल फोन, 01 कार स्वीफ्ट कार, रू. 74,500/- रुपये नगद बरामद किये गए और अभियुक्त के बैंक खाते में धनराशि 5,22,181/- रुपये फ्रीज कराये गये

नईजीरियन अभियुक्त ने पूछताछ में बताया कि वह अपने अन्य विदेशी व भारतीय सह अभियुक्ता के साथ मिलकर बैंकों की वैबसाइट से मिलती जुलती वैबसाइट बनाकर उक्त वैबसाइट में कस्टमर केयर के रुप में फर्जी आई0डी0 पर प्राप्त मोबाइल नम्बर अंकित कर लोगों को ग्रामीण क्षेत्र में डेवलपमेन्ट करने हेतु आर्थिक सहायता देने के नाम पर लालच देकर धोखाधड़ी से विभिन्न शुल्कों के रुप में धनराशि दूरस्थ राज्यों नागालैन्ड आदि के विभिन्न खातों में प्राप्त कर उक्त धनराशि को अलग-अलग स्थानों से एटीएम के माध्यम से निकालकर अपने विदेशी व भारतीय साथियों को हस्तान्तरित करते थे।

एसएसपी नवनीत भुल्लर ने इनको पकड़ने वालो पुलिस टीम को 2500 रुपये नगद ईनाम की घोषणा की