• Sat. Dec 10th, 2022

The Uk Pedia

We Belive in Trust 🙏

‘‘स्वाधीनता आन्दोलन में हिंदी की स्वीकार्यता’’ विषय पर संगोष्ठी का आयोजन

Bytheukpedia

Oct 10, 2022
Spread the love

हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय में आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रमों के तहत कुलपति प्रो अन्नपूर्णा नौटियाल के संरक्षण एवं मार्गदर्शन में एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। ‘‘स्वाधीनता आन्दोलन में हिंदी की स्वीकार्यता’’ विषय पर भाषाविद् डॉ राकेश बी दूबे ने बतौर मुख्य वक्ता अपने विचार रखे।

डॉ दूबे ने आजादी के पूरे परिदृश्य में विभिन्न भाषा क्षेत्रों से संबंध रखने वाले साहित्याकारों के योगदान को स्पष्ट किया तथा कहा कि स्वाधीनता के लिए हिंदी भाषा में ही अपने विचारों का प्रतिपादन करके आजादी के लिए देश को एकजुट किया गया। हिंदी की ताकात समय के साथ बढ़ती गई और आज हिंदी की स्थिति विश्वस्तर पर मजबूत हो रही है। संगोष्ठी का सफल संयोजन प्रो मंजुला राणा द्वारा किया गया जिन्होंने आजादी के अमृत महोत्सव के तहत किए जा रहे कार्यक्रमों की श्रृंखला में ‘‘स्वाधीनता आन्दोलन में हिंदी की स्वीकार्यता’’ विषय की भूमिका को स्पष्ट करते हुए मुख्य वक्ता का परिचय दिया और कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा स्वाधीनता आन्दोलन से जुड़े विषयों पर श्रृखंलाबद्ध कार्यक्रम किए जा रहे हैं जिससे छात्र-छात्राएं, शोद्यर्थी समेत आमजन भी लाभान्वित हो रहे हैं।

कार्यक्रम के अन्त में सफल आयोजन के लिए डॉ अमित कुमार शर्मा ने मुख्य वक्ता एवं सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया। वहीं इस संगोष्ठी में डा रोहित कुमार, डॉ कपिल पंवार समेत छात्र-छात्राओं, शोद्यार्थियों ने अपनी भागीदारी निभाई।